मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

गुरुवार, 30 अप्रैल 2015

साप्ताहिक स्मृति का स्वामी होने के अनेक फायदे हैं

कोई मरे या जीवे ,खुसरा घोल पताशे (बताशे )पीवे।

साप्ताहिक स्मृति का स्वामी होने के अनेक फायदे हैं। किसी भी घटना के बस दो तीन दिन पहले और दो तीनदिन बाद की स्मृति आदमी को रहे तो वह भरपूर सुख लूटे भले लोग उसे विमूढ़ कहें। इसीलिए कहा गया है -'सबसे भले विमूढ़' न संसार के सुख की चिंता न संसार की गति की चिंता।  कांग्रेस में ऐसे साप्ताहिक स्मृति के स्वामी अकेले मंद बुद्धि बालक के रूप में विख्यात सिर्फ राहुल बाबा  नहीं हैं ऐसी ही लोगों की चौकड़ी गत ६० -६५ सालों में कांग्रेस के कथित रहनुमाओं को घेरे रही है। इमरजेंसी के दौरान यही टुकड़ी कॉकस के रूप में भी बहु -चर्चित रही है।

खैर मंद बुद्धि बालक का इस स्मृतिभ्रंश  में कोई कुसूर नहीं है। मानसी संतति का बीज उसके वंशधरों से जाना जाता है। जिस बालक की माता गत ४५ सालों में इस देश की  ज़बान नहीं सीख सकी उसके बालक से आप और क्या अपेक्षा रखियेगा। और क्या ऐसी अपेक्षा रखना वाज़िब समझा जाएगा।

भारत में परम्परा रही है औरतों का सम्मान किया जाता है ,इसलिए हम उन्हें मंदबुद्धि कहने की धृष्टता नहीं कर सकते अलबत्ता विज्ञान मानता है कि भले पेड़ में उसका बीज दिखाई न दे लेकिन बीज पेड़ की सारी इंटेलिजेंस छिपाए रहता है। सारा सॉफ्टवेयर लिए रहता है कब अंकुरण होगा ,नव कोपलें फूटेंगी पत्ते आएंगे ,फूल खिलेगा ,फल आएगा।

ये तमाम साप्ताहिक स्मृति के स्वामी भूल गए -गत पंद्रह सालों की अवधि में  कुल कितने किसानों ने आत्महत्याएं कीं । टर्मिनेटर सीड्स ने कपास की खेती करने वालों को किस तरह तबाह किया ,किसान को बतलाया गया था इस बीज से पैदा फसल को कीड़ा नहीं लगेगा। लेकिन सारी फसल को कीड़े ही खा गए किसान क्या करता फिर।

आंकड़े उठाकर देख लें विदर्भ क्षेत्र के याद कर लें उस समय देश में किस पार्टी का शासन था।

लेबल :साप्ताहिक याददाश्त के मालिक शहज़ादे

  1. Are GM Seeds to Blame for Indian Farmer Suicides? - Record

    www.newsrecord.co › News
    Feb 21, 2013 - Since 1995, more than 270,000 farmers have committed suicide in India, ... within the cotton producing regions of Vidharbha, Andhra Pradesh, Punjab, ...new seeds each year, since GM varieties contain a special “terminator  ...


  1. The Seeds Of Suicide: How Monsanto Destroys Farming ...

    www.globalresearch.ca/the-seeds-of-suicide-how...farming/5329947

    Mar 13, 2014 - The Seeds Of Suicide: How Monsanto Destroys Farming ... of Bt cotton is in Maharashtra and this is also where the highest farmer suicides are. ... (Called “Terminator technology” by the media, sterile seed technology is a type  ...



  1. Farmers' suicide in Vidarbha region of Maharashtra state: A ...

    www.ncbi.nlm.nih.gov › NCBI › Literature › PubMed Central (PMC)

    by PB Behere - ‎2008 - ‎Cited by 26 - ‎Related articles
    Farmers' suicide is not only reported in Vidarbha region of Maharashtra, but also from ... as much as 15 acres of land and hence considered a well off farmer inVidarbha, ... of Vidarbha is 12 lakhs, so number of suicide should be around 116 peryear. ... A total of 7000 farmers have committed suicide during the last 3 years.

झंडा अक्ल का भी होता है

 भले विभिन देशों समाजों और राजनीतिक व्यवस्थाओं में काम करने की प्रणालियां अलग रहीं हों

पर सभी ने अपनी प्रगति दर्शाने के लिए झंडे का सहारा लिया है। और भाषा भेद के बावजूद सबने एक ही मुहावरे का सहारा लिया है :झंडा ऊंचा रहे हमारा। झंडा डंडे की पगड़ी होता है। हर देश और राजनीतिक  व्यवस्था चाहती है उसका झंडा सदैव ऊंचा रहे ये तो सामने वाले से हार जाने पर ही सफ़ेद झंडे का सहारा समर्पण (हथियार डालने )के तौर पर लिया जाता है।



बड़ी विचित्र बात है भारत में एक पार्टी ('आम आदमी पार्टी 'संक्षिप्त रूप 'आप ')ऐसी है जिसने झंडा छोड़के झाड़ू का सहारा लिया है। अब अगर सामने वाला ताकतवर हुआ तो आपकी झाड़ू छीनकर उसी से आपको मारेगा ,केजरीवाल के साथ यही हो रहा है। कुछ लोग तो अब ये संदेह व्यक्त करने लगें हैं कहीं ये सरकार भी तो पार्टी के पदस्थ मंत्री की नकली डिग्री की तरह नकली (फ़र्ज़ी )तो नहीं है।

बेहतर हो केज़रीवालसाहब एक झंडा पार्टी के कुछ समझदार लोगों की सहायता से तैयार करवा लें ,पर ये काम भी कैसे हो पार्टी से समझदार लोगों को तो उन्होंने बाहर निकाल दिया। अभी उनकी सरकार के एक मंत्री की नकली डिग्री के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है कल झाड़ू से पिटाई भी हो सकती है। खुदा खैर करे।

बात झंडे की चल रही थी। झंडा अक्ल का भी होता है।

इस दौर में एक आदमी और है उसके पास अक्ल का झंडा भी नहीं है वह किसानों का नेता बना घूमरहा है। 

बुधवार, 29 अप्रैल 2015

लेबल :सेकुलरभट्ट मीडिआ और छद्म गांधी

भ्रष्टाचार  का कोरम पूरा करने वाले लोग

ये अजीब बात है कि राजनीति संसद  से निकलकर सड़कों पर आ गई है। मनमोहन सिंह के राज में संसद को पीठ दिखाने के चलन को बढ़चढ़ कर परवान चढ़ाया गया ताकि सेकुलर राजनीति भ्रष्टाचार - कोरम पूरा करवाकर मनचाहे बिल पास  कर सके। विपक्ष के संसद से  वाकआउट करने की ये सेकुलर भट्ट प्रतीक्षा करते थे ताकि निहित स्वार्थ वाले बिल पास करवाये जा सकें । और ऐसा थोक के भाव किया गया।

हद तो ये है महात्मा गांधी का माया आवरण ओढ़ कर एक व्यक्ति ट्रेन में सवार हो गया है जब की महात्मा गांधी से कथित नेहरू -गांधी राजनीति का दूर -दूर तक  रिश्ता नहीं है।नेहरू के कुनबे के साथ अदबदाकर गांधी का क्षेपक ठीक वैसे ही जोड़ दिया गया जैसे संविधान में सेकुलर शब्द इंदिराजी के कार्यकाल में चस्पां कर  दिया गया।

किसकी कैमफ्लाजिंग कर रहें हैं ये शहजादे छद्म आवरण लगाके।इन्हें कहते सुना गया है :किसानों की बदहाली  की ख़बरें मुझ तक पहुँच रहीं हैं (जो सेकुलर भट्ट मीडिया पहुंचाता भी रहा है ,जो खुद इस दौर में इसी सड़क छाप राजनीति का एक सक्रिय पक्ष हो गया है ,इस छिद्रान्वेषी मीडिआ को कुछ भी अच्छा नज़र नहीं आता  ,नेपाल संकट की वेला में भी इसे कूटनीति ही नज़र आती है भारत की द्रुत इमदाद नहीं  ),अब मैं खुद जाकर देखना चाहता हूँ।

भैया जी जीजू का किया धरा आपको दिखाई  नहीं दिया किसान की दिल्ली से सटी उपजाऊ ज़मीन एक मुख्यमंत्री का टेका लगाकर हड़प गए। थोड़ा सा टुकड़ा ही उस ज़मीन का किसानों को वापस दिलवादो। छा जाएंगे आप किसानों के बीच सचमुच के हीरो बन जाएंगे।



  1. A friend in need: China, India turn on aid diplomacy in Nepal ...

    www.dawn.com/news/1178704

    1 day ago - "We have no faith in our government, only India and [Prime Minister Narendra] Modi are helping us," said villager Dhruba Kandel in Dhading. ... Nepal & India are like brothers, its secularism that has created all the problems. ... IndianMedia is saying "Disaster politics: India, China, Pak compete in quake-hit  ...

  2. लेबल :सेकुलरभट्ट मीडिआ और छद्म गांधी 

भ्रष्टाचार का कोरम पूरा करने वाले लोग

भ्रष्टाचार  का कोरम पूरा करने वाले लोग

ये अजीब बात है कि राजनीति संसद  से निकलकर सड़कों पर आ गई है। मनमोहन सिंह के राज में संसद को पीठ दिखाने के चलन को बढ़चढ़ कर परवान चढ़ाया गया ताकि सेकुलर राजनीति भ्रष्टाचार - कोरम पूरा करवाकर मनचाहे बिल पास  कर सके। विपक्ष के संसद से  वाकआउट करने की ये सेकुलर भट्ट प्रतीक्षा करते थे ताकि निहित स्वार्थ वाले बिल पास करवाये जा सकें । और ऐसा थोक के भाव किया गया।

हद तो ये है महात्मा गांधी का माया आवरण ओढ़ कर एक व्यक्ति ट्रेन में सवार हो गया है जब की महात्मा गांधी से कथित नेहरू -गांधी राजनीति का दूर -दूर तक  रिश्ता नहीं है।नेहरू के कुनबे के साथ अदबदाकर गांधी का क्षेपक ठीक वैसे ही जोड़ दिया गया जैसे संविधान में सेकुलर शब्द इंदिराजी के कार्यकाल में चस्पां कर  दिया गया।

किसकी कैमफ्लाजिंग कर रहें हैं ये शहजादे छद्म आवरण लगाके।इन्हें कहते सुना गया है :किसानों की बदहाली  की ख़बरें मुझ तक पहुँच रहीं हैं (जो सेकुलर भट्ट मीडिया पहुंचाता भी रहा है ),अब मैं खुद जाकर देखना चाहता हूँ।

भैया जी जीजू का किया धरा आपको दिखाई  नहीं दिया किसान की दिल्ली से सटी उपजाऊ ज़मीन एक मुख्यमंत्री का टेका लगाकर हड़प गए। थोड़ा सा टुकड़ा ही उस ज़मीन का किसानों को वापस दिलवादो। छा जाएंगे आप किसानों के बीच सचमुच के हीरो बन जाएंगे।   

ज़मीन -हड़पू दामाद से उनकी ज़मीन भीं छुड़वाते जाएँ......

ज़मीन -हड़पू दामाद से उनकी ज़मीन भीं छुड़वाते जाएँ......

कांग्रेस का किसान एजेंडा
कांग्रेसी शहज़ादे का गिरोह किसानों की परितुष्टि करने बा -रास्ता हरियाणा पंजाब की मशहूर खन्ना मंडी में पहुँच रहा है ।
हरियाणा के किसान उनसे विनम्र निवेदन करते हैं वह ज़मीन -हड़पू दामाद से उनकी ज़मीन भीं छुड़वाते जाएँ। उनकी बड़ी कृपा होगी। भगवान वे उम्र दराज़ होवें।

फरियादी राजस्थान का किसान भी है। 

Given his limitations that would be a tall order for this Prince .

विदाई

















अपने जीवन-अंश बीज से, नाजुक बेल लगाई                    
हंसते-गाते खुशियों मे, आ गयी इसपे तरुनाई

कतरा-कतरा बूटा-बूटा जोडा, पूंजी येही जमाई
और कुछ है ही नही, जीवन की है यही कमाई

अब तक जिसको अपना माना, होने को है पराई
मिल जायेगा इसको सुवर, आज है इसकी विदाई

दूर होंगे मां-बाबुल अब, अखियां भी है भर आई
डोली मे लेने अपने घर, ढेरो खुशियां संग आयी

पुष्प गिरे झोली मे या-रब , जब ले तू अंगडाई
रूप लक्ष्मी  का  हो  तु , वैभैव हो तेरी परछाई

जितेन्द्र तायल
मोब ९४५६५९०१२०

मंगलवार, 28 अप्रैल 2015

What is an earthquake?What causes the after shocks?

Shaking causes aftershocks



  1. Earthquake Facts and Statistics

    earthquake.usgs.gov/earthquakes/eqarchives/year/eqstats.php

    Jan 13, 2015 - The USGS estimates that several million earthquakes occur in the world each year. Many go undetected because they hit remote areas or have very small magnitudes. The NEIC now locates about 50 earthquakes each day, or about 20,000 a year.
















Geophysicists in the US have found that the "aftershocks" produced by earthquakes are triggered by "dynamic" seismic waves from the main shock rather than changes in stress in nearby faults brought about by the rearrangement of the Earth's crust, as previously believed. Karen Felzer of the US Geological Survey and Emily Brodsky at the University of California at Santa Cruz obtained their results by analysing the aftershocks produced by thousands of small to medium-sized earthquakes that took place in Southern California over nearly two decades. The work could have implications in predicting where aftershocks occur (Nature 441 735).

Earthquakes occur as a result of the pressure that builds up between continental plates moving relative to one another in the Earth’s crust. These primary quakes then generate large numbers of aftershocks -- secondary shocks that can occur at some distance from the earthquake's epicentre and also up to a day or two later. Until now, scientists believed that it was changes in the "static stress" brought about by an earthquake that was responsible for its aftershocks since it seemed that only this mechanism could generate aftershocks that take place significantly after the main quake. But Felzer and Brodsky have concluded this is not the case.

The researchers looked at data on the precise locations of thousands of magnitude 2 to 6 earthquakes that occurred in Southern California between 1984 and 2002. They found that the number of aftershocks drops off steeply with increasing distance from the main shock, up to a distance of 50km. More precisely, they found that the frequency of aftershocks decays with distance as a single inverse power law with an exponent of around -1.35. They say this smooth trend means a single triggering process operates over the entire range, and that because static stress is negligible at distances approaching 50 km "dynamic stress" must be the culprit. They also point out that seismic waves also decay quickly with distance following a power-law relation.


The results could also have implications for predicting where aftershocks will occur once an earthquake has started say the researchers: "One of the key predictions from our studies is that the probability of having an aftershock is proportional to the amplitude of the shaking," explains Brodsky. "So if you know the amplitude of the seismic waves coming in you can, in a probabilistic sense, predict whether or not there's going to be an aftershock at a given site."


Earthquake Physics: Why? Where? When?

What is an earthquake?


An earthquake is a shaking of the ground caused by the sudden breaking and movement of large sections (tectonic plates) of the earth's rocky outermost crust. The edges of the tectonic plates are marked by faults (or fractures). Most earthquakes occur along the fault lines when the plates slide past each other or collide against each other.


The shifting masses send out shock waves that may be powerful enough to 

alter the surface of the Earth, thrusting up cliffs and opening great cracks in the ground and

  • cause great damage ... collapse of buildings and other man-made structures, broken power and gas lines (and the consequent fire), landslides, snow avalanches, tsunamis (giant sea waves) and volcanic eruptions.
Image source: U.S. Geological Survey


Fault or fault plane = the surface where when two blocks of the earth suddenly slip past one another

Hypocenter = the location below the earth’s surface where the earthquake starts

Epicenter = the location on the surface of the earth directly above the hypocenter

Image source: U.S. Geological Su

सोमवार, 27 अप्रैल 2015

मुझ से मत पूछ मेरे इश्क में रखा क्या है..........




    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    •    
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    •    
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    •    
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    •    
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    More images for sonia gandhi's dance bar connection



  1. Truth About Sonia Gandhi | India's Political, National and ...

    https://truthaboutsoniagandhi.wordpress.com/

    THE” TRUE”STORY OF” FAKE LEADER” SONIA GANDHI Alias ANTONIA ... Sonia'sconnection with India is always found with all wrong reasons. ...... 4: Manuscripts on music and dance belonging to the former ruling house of Raigarh in M P.
  2. Sonia Gandhi is a Bar Girl - OyePages

    oyepages.com/blog/view/id/52623605bc54b2683c000000

    1) Sonia Gandhi is ethnically non-Indian as she is not a natural citizen of India but a naturalised citizen of this country. ... 9) Sonia Gandhi is widely considered as either aBar Girl or a waitress before marrying Rajiv ... Connect with facebook.

भारतीय राजनीति की विषकन्या 

जिसे तमाम कांग्रेसियों ने त्याग की प्रतिमूर्ति कहकर पूजित प्रचारित किया क्या वे उसके अतीत को जानते हैं। जिसने एक पूरे देश को बिना अपना जलवा दिखाए बरसों हाइबरनेशन (शीत निद्रा )में रखा हो जब वह नृत्य करती होगी तब कहर   न बरपा होता होगा। योरोप की राजनीति ने जिसे सोचसमझकर भारतीय राजनीति की काया पर इम्प्लांट किया उसका अतीत जान ले आम और ख़ास ये अब बहुत ज़रूरी है। 

अप्सराओं का इतिहास में ज़िक्र है लेकिन कोई एक पूरे देश की सल्तनत का रिमोट बन बैठी हो यह पहली मर्तबा ही हुआ है। 

एक प्रतिक्रिया फेस बुक पोस्ट :


Maitreyee Yagyavalkya ने Shekhar Gemini की चित्र साझा की.


Shekhar Gemini की फ़ोटो.

http://www.ihindu.org/2013/09/who-is-sonia-gandhi-aka-italian-bar-girl.html

https://www.google.co.in/webhp?sourceid=chrome-instant&ion=1&espv=2&ie=UTF-8#q=sonia%20gandhi%27s%20dance%20bar%20connection

भारतीय राजनीति की विषकन्या

    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    • Image result for sonia gandhi's dance bar connection
    More images for sonia gandhi's dance bar connection

  1. Truth About Sonia Gandhi | India's Political, National and ...

    https://truthaboutsoniagandhi.wordpress.com/
    THE” TRUE”STORY OF” FAKE LEADER” SONIA GANDHI Alias ANTONIA ... Sonia'sconnection with India is always found with all wrong reasons. ...... 4: Manuscripts on music and dance belonging to the former ruling house of Raigarh in M P.
  2. Sonia Gandhi is a Bar Girl - OyePages

    oyepages.com/blog/view/id/52623605bc54b2683c000000
    1) Sonia Gandhi is ethnically non-Indian as she is not a natural citizen of India but a naturalised citizen of this country. ... 9) Sonia Gandhi is widely considered as either aBar Girl or a waitress before marrying Rajiv ... Connect with facebook.



भारतीय राजनीति की विषकन्या 

जिसे तमाम कांग्रेसियों ने त्याग की प्रतिमूर्ति कहकर पूजित प्रचारित किया क्या वे उसके अतीत को जानते हैं। जिसने एक पूरे देश को बिना अपना जलवा दिखाए बरसों हाइबरनेशन (शीत निद्रा )में रखा हो जब वह नृत्य करती होगी तब कहर   न बरपा होता होगा। योरोप की राजनीति ने जिसे सोचसमझकर भारतीय राजनीति की काया पर इम्प्लांट किया उसका अतीत जान ले आम और ख़ास ये अब बहुत ज़रूरी है। 

अप्सराओं का इतिहास में ज़िक्र है लेकिन कोई एक पूरे देश की सल्तनत का रिमोट बन बैठी हो यह पहली मर्तबा ही हुआ है। 

एक प्रतिक्रिया फेस बुक पोस्ट :


Maitreyee Yagyavalkya ने Shekhar Gemini की चित्र साझा की.