मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

रविवार, 24 अप्रैल 2016

She

🌹   She 🌹
One day,
         she was in My heart.
 And My
          heart was in Long dart

The dart,
           Was in love forest .
Like forest,

        She was just chaste .

In the Calm forest,

She was come like a breeze

Due to this slow wind,

   My soul was hounting,

Like flower seeker bees.
                   
                 🌹   G.S.Parmar

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें