मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

बुधवार, 23 अक्तूबर 2013

करिश्मा देखने दिखाने की आदी करिश्माई सरकार

गंडा बाँधे फूँक कर, थू थू कर ताबीज |
गड़ा खजाना खोद के, रहे हाथ सब मींज |

रहे हाथ सब मींज, मरी चुहिया इक निकली |
करे मीडिया मौज, उड़ा के ख़बरें छिछली |

रकम हुई बरबाद, निकलते दो ठो हंडा |
इक तो भ्रष्टाचार, दूसरा प्रोपेगंडा |


जाने ये क्या हो रहा, सपने पर इतबार ।
मर्यादा स्वाहा हुई, जीता धुवाँ-गुबार ।
जीता धुवाँ गुबार, खुदाई चालू आहे ।
रही हिलोरें मार, निकम्मी रविकर चाहें ।
बाबा तांत्रिक ढोंग, लगे फिर रंग जमाने ।
होय हाथ में खाज, खोजते लोग खजाने ॥ 

GLEANINGS FROM THE PRESS

Indian temples closed after holy man's dream starts gold rush


Armed police are protecting ancient temples from treasure hunters after a Hindu holy man claimed he had discovered 2,000 tons of gold buried beneath one of them in a dream. Conservationists said his "vision" had started a "gold rush" which is now threatening a number of valuable archeological sites in northern India.
Last night four temples close to Lucknow in Uttar Pradesh were under siege from thousands of prospectors. The rush started when Swami Shobhan Sarkar, a Hindu seer, said the former King of Unnao, Rao Ram Baksh Singh, had come to him and revealed a vast vault of gold below a temple in the grounds of his Daundia Khera fort. His "revelation" attracted vast crowds of local people, as well as local state government officials, who say any treasure belongs in its vaults.
Dr Syed Jamal Hasan, the director of excavation of the Archeological Survey of India, said: "We don't believe in any dream and we're not searching for gold. "There are big crowds, hundreds and thousands of people, surrounding the site. Our police are there and it is under control. They caused damage to some structures with their digging at ancient mounds on the banks of the Ganges."

 (United) chief Sharad Yadav on Tuesday said that his party will file a case against Union Minister Charan Das 
Mahant for spreading superstition regarding the alleged presence of gold in Unnao district of .
"We are going to file a case in this matter what has happened at Dondiya Khera village. We are going to file case 

against Minister Charan Das Mahant for spreading superstition," said Yadav here today.
Yadav also said that the -led Centre should have straightforwardly dismissed the statement of the seer who had a 
dream about the gold as "baseless".
The Archeological Survey of  (ASI) is currently excavating a medieval fort near Unnao in Uttar Pradesh, after a 
local 
hermit Yogi Swami Shobhan Sarkar said that he had dreamt that 1000 tonnes of gold is buried under the ruins of a 
palace-cum-fort.
Local villagers and followers of the hermit said that they completely believe his prediction about the hidden gold, but 
expressed disappointed at the slow pace of work.
The hermit had reportedly written to the Reserve  (RBI) suggesting that this treasure could be used to help 
the country recover from its economic slowdown.
Last week, the ASI had sent a team of archaeologists to the village of Daundia Khera in Uttar Pradesh to dig two 100-
square-metre blocks 


सरकार बहुत खुश है -चलो लोगों का ध्यान कोयले से 

हटके एक ही झटके में सोने पे आ गया 

संत परमहंस स्वामी विरक्तानंद उर्फ शोभन सरकार तुमको लाखों प्रणाम 

करिश्मा देखने दिखाने की आदी करिश्माई सरकार 

को 

करिश्मे का इंतज़ार :

इंतज़ार और अभी और अभी और अभी 




190 सेंटीमीटर खुदाई, नहीं मिला खजाना
 

डौंडियाखेड़ा। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में डौंडियाखेड़ा 

गांव में राजा राव रामबक्श सिंह के किले में सोने के खजाने की खोज में जुटे एएसआई को मंगलवार की खुदाई होने तक कोई खास सफलता नहीं मिली है।

190 सेंटीमीटर गहराई तक खोदने के बाद विभाग ने काम बंद किया और बुधवार को खुदाई बंद रखे जाने की जानकारी दी।

एएसआई के एक अधिकारी डॉ. पी.के. मिश्र ने बताया कि पांचवें दिन मंगलवार को 190 सेंटीमीटर तक खुदाई का कार्य संपन्न हो सका है, लेकिन अब तक सोना की हकीकत का पता नहीं चला है।

उन्होंने कहा कि खुदाई से सांस्कृतिक अवशेष मिलने के आसार प्रबल होते जा रहे हैं। संत शोभन सरकार के शिष्य ओम जी महराज ने दोहराया है कि अभी तो पौने दो मीटर खुदाई हुई है, 15 फीट की गहराई तक खुदाई होने पर संत शोभन सरकार की भविष्यवाणी सच साबित होगी। 

 भले ही पुरातत्‍व विभाग ने खुदाई में सोना निकलने की 

संभावना 

से इनकार कर दिया हो, इसके बाद ही संत शोभन सरकार का कहना है 

कि अभी तक खुदाई में 

कांच 

के टुकड़े, दीवार और मिट्टी के टूटे बर्तन मिल चुके हैं। जब लगभग 15 

फीट की खुदाई हो चुकी होगी तब चमत्‍कार होगा। संत ने गंगा किनारे 

बसे अपने बक्‍सर आश्रम में 


भक्‍तों से मुलाकात कर यह बात कही। इस मुलाकात में संत ने एक बार 

फिर से खजाना होने की बात की है। वहीं खुदाई करने वाले पुरातत्‍व 

विभाग ने इस बात से पूरी तरह 


इनकार किया है। उन्‍नाव जिले के डौंडिया खेड़ा में आज मंगलवार को भी 

पुलिस की देख रेख में खुदाई का काम जारी रहा।

यूपी के डौंडियाखेड़ा में 'महाखजाने की खोज' पर मचे घमासान के बीच संत शोभन सरकार अपने दावे पर डटे हुए हैं। शोभन सरकार ने कहा कि 15 फीट की गहराई तक खुदाई होने पर बड़ा चमत्कार होगा। गौरतलब है कि एएसआई के कई अधिकारी भी खजाना मिलने की संभावना को खारिज कर चुके हैं।

संत परमहंस स्वामी विरक्तानंद उर्फ शोभन सरकार ने सोमवार को गंगा किनारे बने अपने बक्सर आश्रम में भक्तों से मुलाकात की। शोभन सरकार की तरफ से इस दौरान उनके शिष्य ओमजी महराज ने कहा है कि करीब डेढ़ मीटर खुदाई में दीवार, कांच के टुकड़े, मिट्टी के टूटे बर्तन और खंभे मिले हैं, जब 15 फीट की गहराई तक खुदाई हो जाएगी, तब बड़ा चमत्कार होगा।

परोक्ष रूप से संत ने एक बार फिर किले के नीचे सोने का महाखजाना होने का दावा किया है। हालांकि, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के अधिकारी पहले ही महाखजाना होने की बात नकार चुके हैं। 5वें दिन मंगलवार को पुलिस की मौजूदगी में खुदाई का काम जारी है।



Read more at: http://hindi.oneindia.in/news/india/miracle-to-come-soon-saint-shobhan-sarkar-269036.html

3 टिप्‍पणियां:

  1. नेटवर्क की सुविधा आज उपलब्ध होने पर उपस्थित हूँ | आप की यह रचना सत्साहस का एक उदाहरण है !

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज बृहस्पतिवार (24-10-2013)
    "प्याज का अथाह भँडार है" चर्चा - 1408 में "मयंक का कोना"
    पर भी होगी!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  3. गंडा बाँधे फूँक कर, थू थू कर ताबीज |
    गड़ा खजाना खोद के, रहे हाथ सब मींज |

    रहे हाथ सब मींज, मरी चुहिया इक निकली |
    करे मीडिया मौज, उड़ा के ख़बरें छिछली |

    रकम हुई बरबाद, निकलते दो ठो हंडा |
    इक तो भ्रष्टाचार, दूसरा प्रोपेगंडा |

    उत्तर देंहटाएं