मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

बुधवार, 9 अक्तूबर 2013

मेरी नयी प्रेम कहानी " आंठ्वी सीढी "

आदरणीय गुरुजनों और मित्रो ;
नमस्कार ;

मेरी नयी प्रेम कहानी " आंठ्वी सीढी " आप सभी को सौंप रहा हूँ ।

दोस्तों , ये हम जैसे सामान्य मनुष्यों की एक असाधारण प्रेम कथा है . कहानी का ताना बाना , जैसे हम लोगो के हर दिन के जीवन का एक हिस्सा सा है . मुझे यकीन है कि हम में से बहुत से पाठको को ये कथा अपनी सी लगेंगी . मैंने पूरी कहानी को एक वृहद कैनवास पर cinematic visualisation के साथ लिखा है . कहानी frame by frame चलती है. मेरा मानना है कि आपको ये कथा जरुर अपनी सी लगेंगी और निसंदेह अच्छी लगेंगी .

लिंक है : http://storiesbyvijay.blogspot.in/2013/10/blog-post.html

दोस्तों ; कहानी कैसी लगी पढ़कर बताईये , कृपया अपने भावपूर्ण कमेंट से इस कथा के बारे में ; मेरे blog पर लिखिए और मेरा हौसला बढाए । कृपया अपनी बहुमूल्य राय दिजियेंगा . आपकी राय मुझे हमेशा कुछ नया लिखने की प्रेरणा देती है . और आपकी राय निश्चिंत ही मेरे लिए अमूल्य निधि है.

आपका बहुत धन्यवाद.

आपका अपना
विजय
+91 9849746500
vksappatti@gmail.com

1 टिप्पणी:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज बृहस्पतिवार (10-10-2013) "दोस्ती" (चर्चा मंचःअंक-1394) में "मयंक का कोना" पर भी है!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का उपयोग किसी पत्रिका में किया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    शारदेय नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं