मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

मंगलवार, 29 अप्रैल 2014

चर्चा है जिनकी



आप ज़रूर जानना चाहेंगे रॉबर्ट वाड्रा के ये 8 राज ...

भारतीय लोकतंत्र के महापर्व लोकसभा में लगभग सभी मुद्दे पीछे छूट गए हैं और रॉबर्ट वाड्रा अचानक बड़ा मुद्दा बनते दिख रहे हैं। गांधी परिवार के दामाद और प्रियंका के पति रॉबर्ट पर जमीन घोटाले का आरोप लगाकर बीजेपी बेहद आक्रामक हो गई है। कांग्रेस निजी मामलों में दखल बताकर बीजेपी पर उल्टा प्रहार कर रही है, लेकिन विवादों के केंद्र में रहने वाले रॉबर्ट अप्रत्याशित रूप से खामोश और सीन से गायब हैं। वह मौजूदा भारतीय राजनीति में 'मिस्ट्री मैन' बनकर सामने आए है। घुमाइए स्लाइडर का पह‍िया और जान‍िए रॉबर्ट के 8 राज -



रॉबर्ट की हैप्पी बिगन‍िंग रॉबर्ट का जन्म मुरादाबाद में हुआ था। उनके दादा हुकुम राय वाड्रा यहां 1954 में पाकिस्तान के सियालकोट से वाया बेंगलुरु शिफ्ट हुए थे। बाद में बिनजस जमा तो 18 मई 1969 को जन्मे रॉबर्ट को पिता राजेंद्र वाड्रा ने दिल्ली के ब्रिटिश स्कूल में पढ़ने भेजा और पॉश न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में मकान खरीद लिया। रॉबर्ट ने दसवीं के बाद पढ़ाई नहीं की।



रॉबर्ट-प्र‍ियंका की लव लाइफ रॉबर्ट और प्रियंका के रोमांस की कहानी भी कम दिलचस्प नहीं है, जो करीब सात साल तक चला। दोनों पहली बार दिल्ली के ओसिस क्लब में मिले थे, जहां प्रियंका रॉबर्ट के सालसा डांस से इतनी इंप्रेस हुईं कि उन्हें पहली नजर में प्यार हो गया। नजदीकी दोस्तों ने अलग-अलग मौकों पर मीडिया में शेयर किया कि दरअसल दोनों के प्यार पर वह हैरान थे। रॉबर्ट को महंगी पार्टी, महंगी ड्रेस और महंगी गाड़ी इनका शौक रहा है। एक दर्जन गाड़ी में मर्सडीज, रेंज रोवर और बीएमडब्ल्यू के अलावा 15 लाख की बाइक भी है।



पर‍िवार नाखुश, प्र‍ियंका थीं खुश दो साल पहले एक अंग्रेजी मैगजीन को दिए इंटरव्यू में प्रियंका ने रॉबर्ट के बारे में खुलकर बात की थी। इसमें उन्होंने कहा था, 'रॉबर्ट अच्छे इंसान हैं।  मैं उन्हें 18 सालों से जानती हूं। उनसे तब मिली थी, जब मैं मात्र 13 साल की थी।' सात सालों तक चले रॉबर्ट-प्रियंका रोमांस से राजीव और सोनिया कोई खास खुश नहीं थे। शुरू में दोनों ने आपत्ति भी की थी। सोनिया ने शादी की तारीख भी 6 महीने टाली थी, लेकिन बाद में जब प्रियंका अड़ी रही तो फिर सभी मान गए।



वॉड्रा फैमिली में नहीं रहा all is well प्रियंका से 1997 में शादी करने के बाद रॉबर्ट के परिवार में सब ठीक नहीं रहा। पिता राजेंद्र राठौर ने विवाद बढ़ने के बाद खुद को अपने बेटे से अलग कर लिया था।  इस बीच, रॉबर्ट के परिवार में हादसों का दौर भी जारी रहा। उनकी बहन मिशेल 2001 में कार दुर्घटना में मारी गईं। 2003 में उनके भाई रिचर्ड की लाश घर में लटकी हुई मिली थी और पिता ने 2009 में सूइसाइड कर लिया।



स्टाइलिश हैं 'दामाद' एक फैशन मैगजीन ने 2011 में उन्हें देश का सबसे स्टाइलिश पुरुष बताया। क्रिकेट के शौकीन हैं और गोल्फ भी अच्छा खेलते हैं। हॉर्स रेसिंग में भी पैसा लगाते हैं। आईपीएल के भी शौकीन हैं। नजदीकी बताते हैं कि साल में 50 दिन वह विदेश सिर्फ मैच देखने और पार्टी में हिस्सा लेने जाते हैं। नजदीकी बताते हैं कि प्रियंका और रॉबर्ट के बीच सिर्फ एक शौक कॉमन है, वह है इंटिरियर डेकॉरेशन का। एक इंटरव्यू में प्रियंका ने कहा था कि किस तरह उन्होंने रॉबर्ट के साथ 10 जनपथ के इंटीरियर को डिजाइन किया था।



आरोपों से आहत भी हुए पूर्व आइएऐस अशोक खेमका ने जमीनों के लाइसेंस के बड़े घोटालों की ओर इशारा करते हुए कहा था कि यदि सही तरीके से जांच करवाई जाए तो पिछले आठ साल के दौरान जमीनों का घोटाला 20 हजार करोड़ से 350 हजार करोड़ तक का निकल कर सामने आ सकता है। इस मामले में राज्य की भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार पर आरोप लगा कि उसने वाड्रा को जमीन खरीदने में मदद दी और फिर इन जमीनों को ऊंची कीमतों पर बेचा गया।



फेसबुक अकांउट डिलीट 2012 में जब अरविंद केजरीवाल ने रॉबर्ट वाड्रा के लैंड डील पर पहली बार पब्लिक डोमेन में खुलासा किया तो रॉबर्ट वाड्रा ने अपने फेसबुक पर कॉमेंट किया, 'मैंगो पीपल इन बनाना रिपब्लिक।' इस पर इतनी तीव्र प्रतिक्रिया हुई कि उन्हें अपना फेसबुक अकांउट तक डिलीट करना पड़ा।



राजनीति में आएंगे ! बीच-बीच में ऐसी चर्चा भी सामने आती रही कि रॉबर्ट राजनीति में आ सकते हैं। इसका खुलासा खुद रॉबर्ट वाड्रा ने एक इंटरव्यू में कहा कि उन पर कांग्रेस की ओर से चुनाव लड़ने का ऑफर है। उन्होंने 2009 में कहा था कि उन पर पार्टी की ओर से सुल्तानपुर से चुनाव लड़ने का दबाव था। हालांकि बाद में पार्टी ने इस बात को ज्यादा तवज्जो नहीं दी थी।

http://publication.samachar.com/topstorytopmast.php?sify_url=http://hindi.oneindia.in/news/india/robert-vadra-has-an-interesting-life-but-now-days-he-has-lse-296935.html

चर्चा है जिनकी 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें