मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

रविवार, 13 अप्रैल 2014

इस देश की जनता जानना चाहती है वह कौन सी ताकतें थीं जिन्होनें राजीव गांधी की हत्या करवाई थी और इस हत्या से सबसे ज्यादा फायदा किसी पहुंचा ?

पत्नियों को बैंगन की तरह तंदूर में भूनने की परम्परा जिस कांग्रेस की है वही आज नरेंद्र मोदी से पत्नी का

नाम

छिपाए रखने की वजह पूछ रही  है। कांगेस हाईकमान की पादुकाएं चाटने वाले कई वकील उकील मुस्कुराते

हुए इस मुद्दे पे भले कुछ भी पूछते रहें हैं। उन्हें जनता को यह भी बताना चाहिए की सोनिया माइनो ने

प्रधानमन्त्री के पद को एक कठपुतली के पद में क्यों और कैसे बदल दिया था?क्या ये लोग भी उस संविधानिक

पद को बे -मानी बनाने में मूक समर्थक थे ?

"हर हाथ को शक्ति हर हाथ को तरक्की "देने का वायदा करने वाली कांग्रेस युवाओं को शक्ति तो क्या देगी

उनके हाथ से बची खुची शक्ति भी छीन लेगी। जिसने प्रधानमंत्री के हाथों से सारी ताकत छीन ली   वह आम

आदमी के हाथ पे

कुछ रखेगी ?उसका हाथ तो निरंतर उसकी जेब में ही रहेगा।

एक भारतीय महिला अपने पति के हत्यारे की आँख निकाल लेगी उस से मिलने जेल में नहीं जाएगी। इस देश

की जनता जानना चाहती है वह कौन सी ताकतें थीं जिन्होनें राजीव गांधी की हत्या करवाई थी और इस हत्या

से सबसे ज्यादा फायदा किसी पहुंचा ?

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें