मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

रविवार, 4 अगस्त 2013

कुछ सवाल जनता के


मोदी जी क्या जादू की कोई छड़ी तुम्हारे पास है ?
क्योकि पूरा देश लगाये  बैठा  तुमसे आस है |

राम कृष्ण की तरह क्या तुम विष्णु का अवतार हो ?
जो भारत भूमि का तुम करने आये उद्दार हो ?

साठ वर्ष जो नहीं हुआ वो क्या अब तुम कर पाओगे? 
डूब रही भारत की नैया क्या तुम पार लगाओगे ?

क्या सच में मासूमो को अब भूख नहीं तड़पायेगी ?
माताओं बहनों को इज्जत वापस फिर मिल जायेगी ?

क्या भारत में सचमुच फिर से रामराज फिर आएगा ?
क्या कोई अफसर अब घूस न लेते पकड़ा जाएगा ?

क्या न हमको अब आतंकी बम के दम पे डरायेंगे ?
क्या हम फिर से आजादी का सच्चा जश्न मनाएंगे ?

क्या सच में नेता अब अपनी कर न सकेंगे मनमानी ?
क्या जनता की बात सुनेगे छोड़ेंगे वह बेईमानी ?

क्या गोमाता हो मजबूर न कचरा अब से खाएगी ?
पतित पावनी गंगा मईया फिर निर्मल हो जायेगी ?

क्या मंदिर के बाहर कोई भीख नहीं अब मागेगा ?
मर्यादा की सीमा कोई पुरुष नहीं अब लाँघेगा ?

क्या माओं की कोख में अब न बेटी मारी जाएगी ?
स्त्री भी क्या फिर अपनी मर्यादा में आ जायेगी ?

राम नाम के अक्षर का मतलब तो पहले समझाओ ?
आजादी है तुम्हे देश में राम राज लेकर आओ ?

ये द्वापर न त्रेता है ये तो कलियुग अपना है 
जहा रावण राज हकीकत है और राम राज इक सपना है 
.......................................................श्यामा अरोरा

6 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया प्रस्तुति-
    पर मोदी की राह में कई कांटे हैं-

    होगे विष्णु अवतार तुम, सकते भारत तार |
    लेकिन हम क्यूँ मान लें, चला सकोगे कार |

    चला सकोगे कार, रोड पर जाम लगेगा |
    बंटे जाम नि:शुल्क, श्वान अभिमान जगेगा |

    भौंक भौंक ले ऱोक, बता निर्णय क्या लोगे |
    कहता छाती ठोक, नहीं तुम पी एम् होगे-

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।। त्वरित टिप्पणियों का ब्लॉग ॥

    उत्तर देंहटाएं
  3. कुछ नहीं किया था राम ने बस जन-जन को जगाया था
    राम का आदर्श चरित्र व व्यवहार जन-जन को भाया था
    कोइ अवतार या नेता श्याम कुछ नहीं कर पायगा ,
    यदि आप हम जन-जन स्वयं सदाचरण नहीं अपनायगा

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मंत्री व संत्री तो अज्ञानता की मज़बूरी हैं
      देश बदलने के लिए जन जागरण जरुरी है

      हटाएं
  4. भगवान किसी भी बिध योगमाया से साधारण मनुष्य तन में आ सकते हैं। उस तन में एक महान आत्मा अका वास ज़रूरी है। ये भगवान की भी मजबूरी है। मोदी को भी मिली छूट पूरी है। ॐ शान्ति।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. काश किसी भी रूप में नारायण आ जाए
      डूब रहे इस देश की नैया पर लगाये

      हटाएं