मित्रों!

आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।


समर्थक

मंगलवार, 6 अगस्त 2013

HAAPY SLAP DAY




आओ भाईओं बहनों मिल कर हेप्पी स्लेप डे मनाये । 
नेताओ के मुंह  पर जाकर थप्पड़ जरा लगायें  । 

उस थप्पड़ की गूंज से दहले संसद के गलियारे । 
खौफ दिखे चेहरों पर उनके चौकन्ने हो सारे । 
बेलगाम इन घोड़ो  की आओ लगाम कसवाये । 
नेताओ के मुंह  पर जाकर थप्पड़ जरा लगायें  । 

उस थप्पड़ की गूंज से हिल जाए राजनीति  के खम्बे । 
ढूंढ़ -ढूंढ़ कर मारो भागे ये इटली या बाम्बे । 
बच्चे बूड़े  नर व नारी सभी दांव  आजमाएं  । 
नेताओ के मुंह  पर जाकर थप्पड़ जरा लगायें  । 

इस थप्पड़ की गूंज को सारे भारत में फैला दो । 
कोई न बचने पाए ऐसा हाहाकार मचा दो । 
बिल में कोई न छुपने पाए सब को ही पिटवाये । 
नेताओ के मुंह  पर जाकर थप्पड़ जरा लगायें  । 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें